fbpx

देवर ने जवान भाभी से की शादी, बेटे की मौत के बाद बहु हो गई थी विधवा, बच्ची के जन्मदिन पर सास ससुर ने लिया समाज मे मिशाल पेश कर देने वाला निर्णय

B Editor

जीवन की राह अकेले काटना आसान नहीं होता. इसलिए विवाह संस्था का समाज में और भी ज्यादा महत्व हो जाता है. फिर भी जो इस कठिन राह पर अकेले चलने का हौसला करते हैं उनके लिए इन राहों में कई-कई चुनौतियां होती हैं. अकेले रहना जहां अपने आप में एक चुनौती है वहीं कई बार समाज ऐसे लोगों के लिए कुछ नई चुनौतियां भी खड़ी कर देता है.

Share This Article
Leave a comment