fbpx

अपनी मां के खिलाफ जाकर कोई भी काम नहीं करते थे गोविंदा, जीवनभर उन्हें ‘देवी’ माना

B Editor

बॉलीवुड इंडस्ट्री के ‘हीरो नंबर-1’ यानी अभिनेता गोविंदा को भला कौन नहीं जानता। एक्टिंग, डांसिंग और कॉमेडी के शहंशाह कहे जाने वाले गोविंदा ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक बड़ा मुकाम हासिल किया है। उन्हें देखकर लोगों का कहना है कि गोविंदा जैसा दूसरा कलाकार बॉलीवुड इंडस्ट्री में नहीं आ सकता। वहीं गोविंदा अपनी सफलता के पीछे अपनी मां का हाथ बताते हैं।

गोविंदा का कहना है कि वह आज जो कुछ भी है उनकी मां की वजह से ही है। गोविंदा अपनी मां को देवी की तरह मानते थे और उनका कहना कभी भी नहीं टालते थे। यूं तो इंडस्ट्री में गोविंदा ने अपना मनचाहा मुकाम हासिल किया लेकिन वह अपनी मां के सामने हमेशा अच्छे बेटे बनकर रहे और उन्होंने अपनी मां के खिलाफ जाकर कोई भी काम नहीं किया।

मुस्लिम थी गोविंदा की मां
बता दें, गोविंदा की मां का नाम नदीम था, लेकिन वह एक हिंदू शख्स को दिल दे बैठी थी जिसके बाद उन्होंने अपना नाम निर्मला रख लिया था। गोविंदा 6 भाई बहन है जिनमें से वह सबसे छोटे हैं। गोविंदा के जन्म के बाद से ही उनकी मां साध्वी बन गई थी। कहा जाता है कि गोविंदा की मां की कही हुई बातें अक्सर सच हो जाया करती थी और उन्होंने ऐसी कई भविष्यवाणियां की जो सच भी साबित हुई।

बेटी की मौत की भी कर दी थी भविष्यवाणी
एक इंटरव्यू के दौरान खुद गोविंदा ने इस बात को साझा करते हुए कहा था कि, “मेरी मम्मी ने उनसे कहा था कि तुम 21 साल के होगे तो कमाल कर दोगे। मैं 21 साल का हुआ तो हीरो बन गया था। मैंने केवल 50 दिन के अंदर 49 फिल्में साइन कर ली थी। एक दिन मेरी मां ने अपनी मौत की भविष्यवाणी कर दी थी। उस वक्त मैं बहुत परेशान हो गया था। इसके तीन महीने के बाद उनकी मौत हो गई।”

गोविंदा ने बताया था कि, मां ने उनकी बेटी और कॉमेडियन कृष्णा अभिषेक की मम्मी पद्मा जीजी की मौत की भविष्यवाणी कर दी थी। मेरी बहन के पेट में आरती और कैंसर एक साथ पल रहे थे। बेटी के जन्म के बाद वह नहीं रही।”

इसके अलावा गोविंदा ने कहा था कि, “मुझे याद है कि कैसे मेरी मां हर दिन हमारे लिए गाती थी और हमारे दिन की शुरुआत हमारे साथ उनकी खूबसूरत आवाज़ को सुनकर होती थी। उस समय लोगों ने उनसे यह भी पूछा कि वह इतनी प्रार्थना क्यों करती हैं, लेकिन घर पाने और सफल होने का हमारा यह सपना उनकी मेहनत और उनके आशीर्वाद का परिणाम है।”

गोविंदा की माँ को पसंद नहीं थी नीलम
बता दें, करियर की शुरुआत में गोविंदा जानी-मानी अभिनेत्री नीलम कोठारी से बेइंतहा मोहब्बत करते थे और उनसे शादी करना भी चाहते थे। लेकिन उनकी मां नहीं चाहती थी कि गोविंदा नीलम से शादी करें। ऐसे में फिर उन्होंने नीलम से रिश्ता तोड़ लिया था और साल 1987 में सुनीता आहूजा संग शादी रचा ली थी। गोविंदा दो बच्चों के पिता है। उनकी बेटी का नाम टीना आहूजा है, वही बेटे का नाम हर्षवर्धन आहूजा है।

गोविंदा की पत्नी उन्हें बेटे के रूप में पाना चाहती है
एक इंटरव्यू के दौरान गोविंदा की पत्नी सुनीता ने भी कहा था कि, “शादी के पिछले 36 वर्षों में मैंने उन्हें सबसे अच्छे भाई, सबसे अच्छे बेटे, सबसे अच्छे पिता और सबसे अच्छे पति के रूप में देखा है। लेकिन मेरी एक इच्छा है और वह यह है कि मेरे पास उनके जैसा एक बेटा था क्योंकि जिस तरह से वह अपने माता-पिता के साथ थे और उन्होंने उनका कितना ख्याल रखा, उससे मुझे उनके जैसा बेटा चाहिए।”

Leave a comment