क्या है टाइपिंग मिस्टेक का मामला, जिस वजह से सुजलॉन के शेयरों में लगा 20% का अपर सर्किट

B Editor

मुंबई.भारतीय शेयर बाजार के चर्चित शेयरों में से एक सुजलॉन एनर्जी के शेयरों में आज तूफानी तेजी देखने को मिली है. सुजलॉन एनर्जी लिमिटेड के शेयर सोमवार के शुरुआती कारोबारी सत्र में बीएसई पर 20% अपर सर्किट के साथ 10.57 रुपए तक पहुंच गए. पिछले कुछ दिनों से इस स्टॉक में तेजी देखने को मिल रही है. पिछले पांच कारोबारी सत्रों में यह शेयर लगभग 26% से अधिक की तेजी दिखा चुका है.

पिछले एक महीने में सुजलॉन एनर्जी के शेयरों में लगभग 37 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. बीएसई पर यह एनर्जी स्टॉक सोमवार को 19.98 फीसद चढ़कर अपर सर्किट पर था. पिछले एक हफ्ते में यह लगभग 32 फीसद चढ़ चुका है. मार्केट में इसे पेनी स्टॉक के तौर पर माना जाता है.

क्यों आई आज तेजी
सुजलॉन के शेयरों में आज आई तेजी की वजह एसबीआई कैपिटल मार्केट्स ट्रस्टी का स्पष्टीकरण माना जा रहा है. ट्रस्टी ने स्पष्ट किया है कि उसके पास जो अतिरिक्त शेयर हैं वो अडानी ग्रिन एनर्जी के नहीं बल्कि सुजलॉन एनर्जी के हैं. इसके पहले एसबीआई ट्रस्टी ने  कहा था कि उसके जो अतिरिक्त शेयर हैं वे अडानी ग्रीन एनर्जी के हैं. अब ट्रस्टी ने कहा है कि वो एक टाइपिंग मिस्टेक था. इस स्पष्टीकरण की खबर बाहर आने के बाद सुजलॉन के शेयरों में जोरदार खरीदारी देखने को मिली और स्टॉक में अपर सर्किट लग गया.

सुजलॉन एनर्जी ने आज 5 सितंबर को एक्सचेंज को सूचित किया कि एसबीआई ट्रस्टी ने प्रमोटर्स के शेयरों को लेकर एक ऐलान किया था जिसकी वजह से कन्फ्यूजन की स्थिति बन गई थी. इस इसमें स्पष्टता आ गई है.

टारगेट कंपनी का उल्लेख गलत
कंपनी ने कहा है कि एसबीआई ट्रस्टी ने ऐलान किया था कि सेबी के नियमों के मुताबिक उसके पास अडानी ग्रीन के शेयर रखे हैं. दरअसल इसमें टारगेट कंपनी का उल्लेख गलत हो गया था वो कंपनी सुजलॉन थी. एसबीआई कैप ट्रस्टी आरईसी लिमिटेड और इंडियन रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी लि. कंसोर्टिसम का ट्रस्टी है, जिसने सुजलॉन को फाइनेंस किया है.

Share This Article
Leave a comment