fbpx

जब दारा सिंह ने 200 किलो के पहलवान को जमकर धोया था, रामानंद सागर ने ‘रामायण’ में ‘हनुमान’ बनाने का ऐसे ले लिया था फैसला

B Editor

हम आपको बता दें कि भारतीय कुश्ती चैंपियन और अनुभवी हिंदी फिल्म अभिनेता दारा सिंह 1954 में भारतीय कुश्ती चैंपियन बने। इतना ही नहीं, उन्होंने विश्व चैंपियन किंग कांग को भी हराया है। उन्होंने 1959 में पूर्व विश्व चैंपियन जॉर्जेस गार्जियनका को भी हराया और राष्ट्रमंडल विश्व चैम्पियनशिप जीती। दारा सिंह के निजी जीवन की बात करें तो उनका जन्म 19 नवंबर 1928 को पंजाब में हुआ था.

आपको बता दें कि दारा सिंह अपने समय के विश्व प्रसिद्ध फ्रीस्टाइल पहलवान थे। साल 1959 में जब कनाडा के वर्ल्ड चैंपियन जॉर्ज गार्डियनका और न्यूजीलैंड के जॉन डी सिल्वा ने दारा सिंह को चुनौती दी थी। तब कोलकाता में कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप के दौरान दारा सिंह ने दोनों को अच्छे से धोया था।

गौरतलब है कि एक बार ऐसा हुआ था जब एक अधिक वजन वाले पहलवान को भी उसने पीटा था। ये मैच रांची में हुआ था, उस वक्त किंग कांग उनके सामने थे. उस समय दारा सिंह का वजन 130 किलो था जबकि किंग कांग का वजन 200 किलो था। लेकिन अपने इरादों के पक्के पहलवान दारा सिंह ने हार नहीं मानी और किंग कांग से भिड़ गए। इसके बाद उन्होंने किंग कांग को नॉक आउट किया और रिंग से बाहर कर दिया।

दूसरी तरफ अगर हम दारा सिंह के एक्टिंग करियर की बात करें तो उस वक्त चैंपियन के साथ दारा सिंह का एक्टिंग करियर भी जोरों पर था। वह पहली बार 1987 में दारा सिंह टीवी सीरियल ‘रामायण’ में नजर आए। रामानंद सागर के सीरियल रामायण ने दर्शकों को बांधे रखा। इसमें दारा सिंह रामायण में हनुमानजी की भूमिका निभाते नजर आए थे।

उन्हें हनुमानजी के किरदार में इतना पसंद किया गया था कि जब भी वे लोगों के सामने जाते तो लोग उनके चरणों में गिरकर उनका आशीर्वाद लेते थे। हम आपको बता दें कि रामानंद के बेटे प्रेम सागर के मुताबिक जब रामायण की कास्टिंग चल रही थी तो रामानंद के दिमाग में हनुमान के रोल के लिए एक ही नाम था- दारा सिंह. उन्होंने बताया था- ‘पापा ने दारा सिंह को फोन किया और कहा कि दारा तुम मेरे नए टीवी सीरियल में हनुमान का किरदार निभाओगे।’

आगे बात करते हुए प्रेम सागर ने बताया कि दारा सिंह शुरू में हनुमान जी का किरदार निभाने से हिचकिचा रहे थे। दारा सिंह ने मेरे पिता से कहा था कि अब मैं करीब 60 साल का हो गया हूं। इस रोल के लिए उन्हें किसी नए युवा अभिनेता को मौका दें। इस पर रामानंद सागर ने कहा- ‘तुम सबसे अच्छे हो’। इसके बाद दारा सिंह उन्हें मना नहीं कर पाए और फिर उन्होंने पूरे मन से हनुमान का किरदार अदा किया था.

Leave a comment