महिला कुली संध्या 45 मर्दों के बीच अकेले करती है काम, इज्जत से कमाकर खाने में रखती हैं विश्वास।

B Editor

दुनिया में ऐसा कोई इंसान नहीं जो बिना संघर्ष के अपनी जिंदगी जीता हो दुनिया में हर आदमी को संघर्ष करना ही पड़ता है फिर चाहे वह कोई महिला हो या फिर कोई पुरुष पर चाहे वह कोई बूढ़ा हो या फिर कोई बच्चा जिस किसी को भी इस दुनिया में रहना है उसको अपना संघर्ष करना ही पड़ता है और तभी वह इस दुनिया में अपना जीवन व्यतीत कर सकता है आज की कहानी हम एक ऐसी महिला के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जिसका नाम संध्या है और पति के निधन के बाद उसके परिवार और उसके बच्चों की जिम्मेदारी उसके ऊपर ही आ गई जिसके चलते वह कुली का काम करती है और फिर भी मैं अपना घर और अपना रोजगार दोनों को संभालती है।
संध्या बताती है कि।

वे कहती हैं कि “भले ही मेरे सपने टूट गए हैं, पर हौसले अभी भी ज़िंदा है। ज़िन्दगी ने मुझसे मेरा हमसफर छीन लिया है, पर अब बच्चों को पढ़ा लिखाकर फ़ौज में अफसर बनाना चाहती हूँ। इसके लिए मैं किसी के आगे हाथ नहीं फैलाऊंगी। कुली नंबर 36 हूँ और इज़्ज़त का खाती हूँ।” उनकी कही इन बातों से आप समझ ही गए होंगे कि वे कितनी स्वाभिमानी महिला हैं, किसी से मदद की याचना करने की बजाय वे महंत करके अपने परिवार के लिए रोज़ी रोटी कमाने में विश्वास रखती हैं। संध्या हर रोज़ मध्य प्रदेश के कटनी रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करती हैं।

उनके ऊपर एक बूढ़ी सास और तीन बच्चों के पालन पोषण की जिम्मेदारी है, इसलिए वे यह जिम्मेदारी उठाने के लिए, यात्रियों का बोझ उठती हैं। उन्होंने अपने नाम का रेल्वे कुली का लाइसेंस भी बनवा लिया है और अब वे इस काम को पूरे परिश्रम और हिम्मत के साथ करती हैं। 30 वर्ष की उम्र में पहले संध्या अन्य महिलाओं की तरह ही घर और बच्चों को संभाला करती थी। इसी बीच उनके पति भोलाराम बीमार हो गए। उनकी बीमारी काफ़ी समय तक चली और फिर 22 अक्टूबर 2016 को उनकी मृत्यु हो गई।

जब उनके पति बीमार थे, तब भी वे मजदूरी करके अपने घर का ख़र्च उठाते थे। पति के गुजर जाने के बाद सारी जिम्मेदारी संध्या पर आ गई। उनको अपने परिवार के लिए रोजी-रोटी की चिंता होने लगी इसलिए उन्हें जल्द से जल्द किसी नौकरी की आवश्यकता थी, अतः जब कोई अन्य नौकरी ना मिल पाई तो उन्होंने कुली की नौकरी ही कर ली। संध्या कहती हैं कि जिस समय हमें नौकरी खोज रही थी तब किसी व्यक्ति ने उन्हें बताया कि कटनी रेलवे स्टेशन पर कुली की आवश्यकता है तो उन्होंने जल्दी से इस नौकरी के लिए आवेदन कर दिया।

Share This Article
Leave a comment