श्रावण मास में इन पौधों को लगाने से चमक जायेगा सौभाग्य! वास्तु शास्त्र की दृष्टि से जानें पेड़-पौधों का महत्व।।

श्रावण मास में इन पौधों को लगाने से चमक जायेगा सौभाग्य! वास्तु शास्त्र की दृष्टि से जानें पेड़-पौधों का महत्व।।

श्रावण पूजा और दान के लिए सबसे अच्छा महीना माना जाता है. इस माह में आने वाले त्योहारों में पेड़-पौधों की पूजा का विशेष महत्व है। इस दौरान कुछ विशेष पौधे लगाए जाएं तो व्यक्ति का जीवन बहुत सुखी और समृद्ध हो सकता है। शिव भक्ति की दृष्टि से श्रावण मास का विशेष महत्व है।

वहीं इस महीने को नए जीवन की शुरुआत भी माना जाता है। इस दौरान पौधे लगाने से न केवल पुण्य आता है बल्कि पर्यावरण को भी लाभ होता है। आज हम जानेंगे कि इस महीने कौन से पौधे सबसे ज्यादा फायदेमंद होते हैं।

श्रावण मास में लगाएं ये पौधे
तुलसी का पौधा : हिंदू धर्म में तुलसी का पौधा बहुत ही महत्वपूर्ण और शुभ माना जाता है। अधिकांश हिंदुओं के घरों में तुलसी के पौधे लगाए जाते हैं। अगर आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है या आप कोई दूसरा तुलसी का पौधा लगाना चाहते हैं तो इसके लिए श्रावण मास सबसे शुभ है। इस पौधे के नीचे रोजाना रोशनी करने से घर में सुख-समृद्धि आती है और परिवार स्वस्थ रहता है।

अनार का पौधा : श्रावण मास में अनार का पौधा लगाना भी बहुत शुभ माना जाता है। लेकिन ध्यान रहे पौधे रात में ही लगाने चाहिए। इसे घर के सामने रखने से घर की नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।

केले के पौधे : एकादशी या गुरुवार श्रावण मास में केले का रोपण किया जा सकता है। केले का पेड़ घर में लगाना वस्तु की दृष्टि से शुभ नहीं होता है लेकिन इसे घर के पीछे या छत के पीछे लगाने में कोई बुराई नहीं है। पौधे लगाने के बाद रोजाना पेड़ को पानी दें। इससे दांपत्य जीवन की परेशानियां दूर होंगी। वहीं कुण्डली में बृहस्पति अधिक बलवान बनेगा।

क्लस्टर अंजीर : ज्योतिष में क्लस्टर अंजीर के पेड़ को एक चमत्कारी पेड़ के रूप में वर्णित किया गया है। श्रावण मास में अंजीर के पौधे लगाने से जीवन में सुख-शांति आती है।

लजामणि का पौधा : श्रावण मास के शनिवार के दिन घर के मुख्य द्वार के बाईं ओर लाजमणि का पौधा लगाएं। इस पौधे को लगाने से शनि दोष से राहत मिलती है और मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है।

पीपल का पौधा : श्रावण मास के गुरुवार के दिन पिपला का पौधा लगाने से घर में सुख-समृद्धि आती है. घर में गलती से भी पीपल का पौधा न लगाएं। यह पेड़ बगीचे में मंदिर के पास और सड़क के किनारे लगाया जाता है। शास्त्रों में उल्लेख है कि भगवान विष्णु पिपला में निवास करते हैं। इसके अलावा पीपल के पेड़ में कुछ लोगों का पुश्तैनी वास माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *