15 अक्टूबर को दशहरा है, इस दिन करें ये शुभ कार्य, साल भर रहेगी माँ लक्ष्मी कृपा….

15 अक्टूबर को दशहरा है, इस दिन करें ये शुभ कार्य, साल भर रहेगी माँ लक्ष्मी कृपा….

दशहरा को असत्य पर सत्य की जीत का सबसे बड़ा प्रतीक माना जाता है। दशहरा हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है। यह त्यौहार हर साल मनाया जाता है। पूरे देश में एक परंपरा है कि विजयादशमी के दिन रावण की मूर्ति को जलाया जाता है। हिंदू धर्म में दशहरा या विजयदशमी के त्योहार का विशेष महत्व है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार दशहरा इस साल 16 अक्टूबर को पड़ रहा है। मान्यता है कि दसवें दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था। शास्त्रों में विजयादशमी की तिथि को श्रेष्ठ बताया गया है। कहा जाता है कि इस दिन जीत के क्षण में शुरू किया गया कोई भी काम फायदेमंद साबित होता है। दशहरे के दिन कुछ विशेष उपाय भी महत्वपूर्ण होते हैं। तो आइए जानते हैं किन उपायों से घर में खुशियां आने की संभावना है।

दशहरे के दिन शस्त्रों की पूजा की जाती है। मान्यता है कि ऐसा करने से शत्रु पर विजय प्राप्त होती है।

विजयादशमी के दिन घर के उत्तर-पूर्व कोने यानि उत्तर पूर्व दिशा में कंकू या लाल फूल या रंगोली या अष्टकोणीय आकृति बनानी चाहिए। कहते हैं ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और घर में सुख-समृद्धि आती है.

दशहरे के दिन भूमि के वृक्ष की पूजा का विशेष महत्व है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन पूजन में शमी के पत्ते चढ़ाने से आर्थिक लाभ होता है।

ऐसा माना जाता है कि दशहरे के दिन शमी के पेड़ की मिट्टी को मंदिर में रखने से बुरी शक्तियों का प्रभाव समाप्त हो जाता है।

दशहरे के दिन नीलकंठ के दर्शन करना भी शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि ऐसा करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

दशहरे के दिन शमी के पेड़ के नीचे दीया जलाने से कार्य में बाधा दूर होती है। ऐसा करने से सफलता का मार्ग प्रशस्त होता है।

ऐसा माना जाता है कि दशहरे के दिन घर की नकारात्मकता को दूर करने के लिए रावण दहन की राख को सरसों के तेल में मिलाकर घर की हर दिशा में छिड़कना चाहिए।

दशहरे के दिन पान खाना बहुत शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि ऐसा करने से दांपत्य जीवन में खुशहाली आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *