इन 5 फिल्मों के मुख्य किरदारों की मौत देखकर ऑडियंस रोने लगी थी

B Editor

बॉलीवुड इंडस्ट्री एक ऐसी जगह है जहां पर रोज ना रोज कई सारी बेहतरीन फिल्मों से लेकर कई सारी फ्लॉप फिल्में बनाई जाती हैं।

लेकिन इन सभी फिल्मों में से कुछ फिल्में ऐसी भी होती है जो कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में काफी ज्यादा नाम काम लेती हैं और उनके कुछ सीन दर्शकों के दिमाग एक अलग छाप छोड़ देते हैं।

आमिर खान की करियर की सबसे बेहतरीन फिल्म कही जाने वाली गजनी में कल्पना की डेथ को देखकर हर कोई रोने पर मजबूर हो गया था।

कल्पना अपनी आखरी सांस तक यह नहीं जान पाई थी कि जिस शख्स से वह प्यार करती थी, वह सच में संजय सिंघानिया है, उसकी मृत्यु ने दर्शकों को अंदर तक चोट पहुंचाई थी।

फिल्म नीरजा में नीरजा का किरदार सोनम कपूर द्वारा निभाया गया था इस फिल्म में नीरजा हाईजैक हुए प्लेन से हर किसी को बाहर निकाल देती है।

लेकिन जब बेचारी खुद को बचाकर बाहर निकलने कोशिश करती है तब आतंकवादी उसे शूट कर देते हैं, फिल्म को देखते हुए किसी को भी यकीन नहीं हो रहा था कि सबकी मदद करने वाली नीरजा का यह हाल होगा।

3. शेरशाह

फिल्म शेरशाह में सिद्धार्थ कपूर द्वारा विक्रम बत्रा का किरदार निभाया गया था और उन्होंने अपनी एक्टिंग से सबका खूब दिल जीता था।

फिल्म के लास्ट सीन में जब विक्रम बत्रा अपने बटालियन के आदमी को बचाने के लिए अपने जान की बिना परवाह किए हुए आगे बढ़ जाते हैं तब सामने वाले देश के दुश्मन मौका देकर उन्हें गोली मार देते हैं।

लेकिन विक्रम बत्रा की जुबां पर आखरी सांस तक देश का ही नाम होता है, फिल्म का यह सीन देखकर हर कोई रोने को मजबूर हो गया था।

4. बाजीराव मस्तानीभले ही बाजीराव फिल्म के अंत में कितना जख्मी होने के बाद भी बच जाता हैं लेकिन उनके मन में यही ख्वाहिश होती है कि जैसे ही उनकी जान बच गई है वैसे ही उनकी मस्तानी भी बच जाती,

लेकिन मस्तानी मर जाती और दोनों एक दूसरे से जुदा हो जाते हैं, फिल्म का यह सीन भी दर्शकों को रोने पर मजबूर कर देता है।

5. उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक

इस फिल्म में सोते हुए सैनिकों पर आतंकवादियों द्वारा किया गया हमला बहुत ही ज्यादा भयानक होता है और यह सभी सीन दर्शकों को बहुत ही अलग तरीके से डिस्टर्ब करते हैं।

कुछ लोगों ने तो यह तक कहा है कि उन्हें यह सीन देखने के बाद कई रातों तक नींद नहीं आई थी। बता दे आतंकवादियों ने सोते हुए भारतीय सैनिकों को जिंदा आग के हवाले कर दिया था।

6. रंग दे बसंती
भारत के डिफेंस मिनिस्टर को मारने के बाद जब इंडियन आर्मी डीजे, असलम सुखी, लक्ष्मण, करण कुमार तक पहुंचती है तो उनकी डेथ देखकर भी ऑडियंस अपने आंसू नहीं रोक पाती है।

इस फिल्म में इन पांचों की डेथ को बहुत ही बेहतरीन तरीके से दर्शकों के सामने पेश किया गया है।

Share This Article
Leave a comment