क्या आप की नींद आधी रात को उड़ जाती हैं? तो भगवान आपको यह संकेत दे रहे हैं

B Editor

हर किसी को अपनी रात की नींद बहुत पसंद होती है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो रात को अचानक से सो जाते हैं या फिर थोड़ी देर सो भी नहीं पाते। अगर आप भी किसी कारण से पर्याप्त नींद नहीं ले पा रहे हैं तो हमारे पास आपके लिए आराम से सोने का उपाय है। इस तरह की परेशानियां हमारे आचरण से जुड़ी होती हैं। किसी भी समय यह आपको संकेत देता है कि आप मानसिक तनाव में हैं। इसके अच्छे और बुरे दोनों संकेत हो सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको उन संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

रात 8 से 11 बजे के बीच नींद की कमी

यह सब हमारे सोने के समय से शुरू होता है। हमारा सोने का समय हमारे मानसिक संकट को दर्शाता है। रात के 8 से 11 बजे के बीच का समय सबसे अच्छा है। अगर आप रात को 8 से 11 बजे के बीच सो नहीं पाते हैं तो आप मानसिक तनाव में हैं। अब आप अपनी चिंताओं को अपने शरीर पर आने दें। इस चीज से छुटकारा पाने के लिए आपको ध्यान करना शुरू कर देना चाहिए।

रात 11 से 1 के बीच नींद की कमी

अगर आप रात के 11 से 1 बजे के बीच सो रहे हैं तो यह आपकी भावनात्मक स्थिति का सीधा संकेत है। इस आदत से छुटकारा पाने के लिए आपको पवित्र मंत्रों का जाप करना शुरू कर देना चाहिए या दूसरों को क्षमा करने और अपनी गलतियों को स्वीकार करने की आदत डाल लेनी चाहिए।

रात के 1 से 2 बजे के बीच नींद न आना

अगर आप रात के 1 से 2 बजे के बीच नींद खो देते हैं या इस समय आपको नींद नहीं आती है तो यह इस बात का संकेत है कि आपका लीवर कमजोर है। इस दौरान आपकी नींद उड़ जाना आपके गुस्सैल स्वभाव को दर्शाता है। इससे बचने के लिए आपको ठंडा पानी पीने और मेडिटेशन करने की जरूरत है। तब आप देखेंगे कि आपके जीवन में सुख-समृद्धि वापस आ जाएगी।

रात 8 से 5 बजे के बीच नींद न आना।
अगर रात 8 से 5 बजे के बीच आपकी नींद बार-बार उड़ती है, तो यह इस बात का संकेत है कि कोई नकारात्मक ऊर्जा आपसे संपर्क करना चाहती है। यह ऊर्जा आपको हमेशा जाग्रत रहने का संकेत देती है। दरअसल इस दौरान सो जाना आपके उदास मन की ओर इशारा करता है और फेफड़ों से जुड़ी समस्या को भी दर्शाता है। आपकी चिंता का समाधान भी हमारे पास है। आपको साँस लेने के व्यायाम शुरू करने चाहिए जिससे आपको मन और आपके फेफड़ों को शांति मिले।

मैं सुबह 8 से 9 बजे के बीच सो गया

अगर आप रोजाना 5 से 6 बजे के बीच सो जाते हैं तो यह आदत दर्शाती है कि आप भावनात्मक रूप से कमजोर हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस समय आपकी ऊर्जा का प्रवाह बहुत अधिक होता है। इस समय आप सबसे अधिक सक्रिय होते हैं, लेकिन तभी जब समस्या का कोई इलाज हो। स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज आपकी मदद करेगी।

Share This Article
Leave a comment